शुक्रवार, 30 सितंबर 2016

पाक को करारा जबाब

ऐ वीर जवानों उठ जाओ
भारत माँ ने ललकारा है.
अब  बहुत हो चुका कतले - आम
अब सबने ललकारा है
कितने निर्दोष आतंकबाद के भेंट चढ़े
माँ  के लाल सो गए गोद में
कब तक सूनी  होगी बहनो की आँखे
अब बदला लेने की बारी  है
अब न करो शांति की बात
वो भाषा आती नहीं पाक को
न करो रहम उन पर
जिन्होंने माता की गोद को असमय उजाड़ा है
अब समय आ गया उनको 
उनकी आकौत दिखाने का
-गरिमा

3 टिप्‍पणियां:

रूपचन्द्र शास्त्री मयंक ने कहा…

आपको सूचित करते हुए हर्ष हो रहा है कि- आपकी इस प्रविष्टि के लिंक की चर्चा कल शुक्रवार (01-10-2016) के चर्चा मंच "कुछ बातें आज के हालात पर" (चर्चा अंक-2483) पर भी होगी!
महात्मा गान्धी और पं. लालबहादुर शास्त्री की जयन्ती की बधायी।
साथ ही शारदेय नवरात्रों की हार्दिक शुभकामनाएँ।
डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

रूपचन्द्र शास्त्री मयंक ने कहा…

आपको सूचित करते हुए हर्ष हो रहा है कि- आपकी इस प्रविष्टि के लिंक की चर्चा कल रविवार (02-10-2016) के चर्चा मंच "कुछ बातें आज के हालात पर" (चर्चा अंक-2483) पर भी होगी!
महात्मा गान्धी और पं. लालबहादुर शास्त्री की जयन्ती की बधायी।
साथ ही शारदेय नवरात्रों की हार्दिक शुभकामनाएँ।
डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

Onkar ने कहा…

सामयिक रचना