गुरुवार, 27 सितंबर 2012

गरीबी


गरीबी क्या  है?
कुछ भी तो नहीं
जो लोग जो गरीबी
 की रेखा के नीचे है,
वो भारत शब्द का इस्तेमाल
करता है
और जो बुदीजीवी है
वो इंडिया का
क्या बात  है,
कुछ लोग अन्न के लिए
तड़पते है
और नेता कहते  है,
गरीबी खत्म
पर गरीबी खत्म कहने
पर वो अपनी रोटी कैसे सकेंगे
बस एक आश्वाशन पर
सबको  टहलाया करेंगे 

2 टिप्‍पणियां:

girish pankaj ने कहा…

सुंदर-प्यारी कविता. संभावनाओं से भरी हुयी.

यशवन्त माथुर (Yashwant Mathur) ने कहा…

बेहतरीन कविता


सादर