गुरुवार, 20 अक्तूबर 2016

दोस्ती का महत्व

दोस्त  कौन  होते है
जो अपने काम आये वही दोस्त होते है
पर आज दोस्ती में स्वार्थ आ गया है
हर कोई मतलबी  है
बहुत कम दोस्त होते है
जो बिना स्वार्थ के काम आये
ऐसे लोग पथ प्रदर्शक होते है
 वो कभी गलत रास्ता नहीं  बताते
ऐसे लोग भगवान  को भी प्यारे होते है
दोस्ती बहुत अनमोल होती है
कुछ भी खो जाये  दोस्ती नहीं खोनी चाहिए
सच्चे दोस्त बहुत कम होते है
दोस्त के दिल में प्यार ही प्यार होता है
दोस्त बनता है हर मुश्किल का सहारा
- गरिमा 

1 टिप्पणी:

रूपचन्द्र शास्त्री मयंक ने कहा…

आपको सूचित करते हुए हर्ष हो रहा है कि- आपकी इस प्रविष्टि के लिंक की चर्चा कल शनिवार (22-10-2016) के चर्चा मंच "जीने का अन्दाज" {चर्चा अंक- 2503} पर भी होगी!
हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'