शनिवार, 30 अगस्त 2014

नशा

नशा क्या है ?

जो पीता है शराब
क्या वही नशे में है 
लगता है मानो
आज सभी नशे में है,
किसी को दौलत का नशा,
किसी को शौरत का नशा,
किसी को प्यार का नशा,
किसी को सत्ता का नशा,
ए  दोस्त! जो कहता है
की मुझे नशा शराब का है
वो कितना पागल है
शराब से ज्यादा नशा
तो दौलत, शौरत, सत्ता में है
अगर न होती सत्ता तो,
सत्ता मिलते ही लोग
गरीबो को न भूल जाते
नशा में आज ज़माना सारा है,
और लोग कहते है
की हम नशे में है