गर्मी

 खिड़की  से  झाकता   सूरज
 तपती  धरती आये  पसीना
गर्मी   की  है बात  निराली
 सब  होते घरो में बंद
 और लेते आम का  मजा
ना पढने की झंझट,
ना  स्कूल जाना
सूरज  देव ने  आखे  खोली
 सबको  मिला उजाला
सब करते मिल कर धमाल
गर्मी में सब  खाते  आइसक्रीम
हर मौसम  का  अपना मजा
गर्मी हो सर्दी

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

प्यारा हिन्दुस्तान

जीवन क्या है?