बुधवार, 13 फ़रवरी 2013

वैलेंटाइन दिवस

फिजा का रंग बदलने लगा है
हर तरफ प्यार का रंग छाने लगा है,
सब पर छाया है प्यार  का खुमार
हर कोई है  बेक़रार 
 करने को इज़हार
अपने प्यार का
पर प्यार क्या प्रेमी प्रमिका का
ही होता है
प्यार का इज़हार तो हम कर सकते है
अपने माँ पिता जी  से,
अपने भाई बहन से
अपने गुरु से
किसी से भी
क्या वैलेंटाइन का मतलब
प्रेमी प्रेमिका  का प्यार ही होता है,
अगर इस बार सब ये संकल्प ले
की वैलेंटाइन दिवस पर हम
करेंगे अपने देश से प्यार
तो होगा इस दिन का सम्मान


1 टिप्पणी:

Yashwant Mathur ने कहा…

सार्थक संदेश


सादर