बुधवार, 30 जनवरी 2013

कंकड़

कंकड़ का क्या अस्तिव
एक छोटा सा टुकड़ा
जो घर पर मारो तो काच टूट जाये
बने तो घर की नीव बन जाये
जितना छोटा कंकड़
उतने उसके फायदे
प्रेमी इसका उपयोग प्रमिका को जागने में करते
बच्चे नदी में मारते,
जब मारते तो नदी में होती है हलचल
तो बच्चे होते है खुश
कंकड़ क्या होता है
इतना छोटा सा कड
क्या क्या कमाल दिखाता है
प्रेमी के लिए है वरदान
कंकड़ न होता तो क्या
होता
दुनिया होती कितनी  वीरान
कंकड़ है कितना छोटा सा
पर काम  करता कितने महान 

कोई टिप्पणी नहीं: