शनिवार, 21 जुलाई 2012

कतार 
 हर जगह कतार  है,
फ़ोन भी बोलता है
आप कतार में है,
कब खतम होगी,
ये कतार पता  नहीं
लोग बढ़ते जा रहे है
हर तरफ मारामारी है
सबको जल्दी है,
कतार से बहार आने की
पर क्या करे कतार
इतनी लम्बी है,
 और बढती जा रही है,
चाहे वो डॉक्टर के यहाँ हो
या हो रेलवे में
अब  तो नौकरी में भी
कतार है
लोग इंतजार कर  रहे है
अपने नंबर  का
कब आएगी पता नहीं
कतार कब होगी खतम कहना
मुश्किल है 

1 टिप्पणी:

यशवन्त माथुर (Yashwant Mathur) ने कहा…

बहुत ही बढ़िया


सादर