रविवार, 1 अप्रैल 2012

बहुत मुश्किल है


नदियों में पानी रह पाना,
पानी की बूँद बूँद बचाना 
बहुत मुश्किल है,
जंगल को बचाना,
हरियाली का रह पाना 
बहु मुश्किल है,
चिडयों का  पेड़ो पर घोशला बनाना 
बहुत मुश्किल है,
पेड जैसे कट रहे है 
कोयल का गाना 
बहुत मुश्किल है,
ठंडी हवा का चलना
मघो का बरसना 
बहुत मुश्किल है,
नदियों में कल कल की आवाज़ 
आने वाली पीढ़ी कैसे सुन पायेगी 
उन्हें नदियों का ज्ञान करना 
बहुत मुश्किल  है    
 

कोई टिप्पणी नहीं: