गुरुवार, 5 जनवरी 2012

बेरोजगारी का आलम  है
सारे जगह हो रहा है
लूट पाट हिंसा
सारे देश में यही हाल है
लोगो के पास पैसे नहीं है
पर रहना तो  शान से ही है
घूमना है  दोस्तों में शान दिखानी है
क्या होगा आज की पीढ़ी का
सब भटक रहे है
कोई राह दिखने वाला नहीं है
भटकते  हुए नौजवानों  को कौन  राह दिखाए  
न नौकरी   है  और न ही कोई रोकने  वाला
माँ बाप भी बेचारे क्या करे
पढ़ा दिया काबिल बना दिया
आब वो क्या करे
बच्चे माँ बाप से झूट बोलकर
लूट रहे है सारी दुनिया को
क्या यही है देश का भविष्य